शिक्षकों की पूर्ति होने की जल्द संभावना







कोरोना के बाद शिक्षा व्यवस्था को सुधारने में शासन प्रशासन जहां जी तोड़ मेहनत कर रहा है वहीं विद्यालय स्तर पर देखा जाए तो गत सरकार की ट्रांसफर पॉलिसी के बाद कई स्कूल पूरी तरह से खाली हो चुके हैं । स्थिति बद से बदतर हो गई है । संपूर्ण सीतावनक्षेत्र ( आदिवासी तहसील उदयनगर ) के विद्यालयों की स्थिति अत्यंत चिंताजनक है । जानकारी के अनुसार विभिन्न संकुल में जो स्थिति निकलकर आई है वह जिला प्रशासन एवं स्कूल शिक्षा विभाग को परेशानी में डाल सकती है । आदिवासी बाहुल्य तहसील मुख्यालय पर शाला संकुल उदयनगर में 9 प्राथमिक माध्यमिक विद्यालय इस प्रकार हैं जहां एक भी शिक्षक ही नहीं हैं एवं एकमात्र शिक्षक के भरोसे जानकारियों का आदान - प्रदान रहा है । यही हाल पुंजापुरा संकुल का भी है जहां 5 विद्यालय शिक्षक विहीन है , वही 18 विद्यालय ऐसे जहां एक शिक्षक से काम चलाया जा रहा है । अंतिम छोर पर बसे पीपरी एवं रतनपुर संकुल की स्थिति चिंताजनक है वहां 16 विद्यालय एक शिक्षक के भरोसे काम कर रहे हैं ऐसे विद्यालय हैं जहां शिक्षक मतदान केंद्र हैं शिक्षकों को बीएलओ का काम अतिरिक्त रूप सेकरना पड़ रहा है । समय रहते हुए शासन - प्रशासन ने अगर इन व्यवस्थाओं को सुधारने पर ध्यान दिया स्थिति और बदतर हो जाएगी इस सरकार के द्वारा भी स्थानांतरण किये जाना है , अगर इस वर्ष भी यहा शिक्षकों के स्थानांतरण होते हैं , स्थिति और चिन्ताजनक होगी अनेक स्कूलों में ताले लग जाएंगे  पालको एवं जनप्रतिनिधियों में रोष देखा गया है । इस बार यहाँ से शिक्षक बाहर स्थानांतरित होंगे तो , यह रोष सड़कों पर भी आ सकता है । ( प्राथमिकता बच्चों को ध्यान में रखकर निर्धारित की जाती है । ज

हां शिक्षक नहीं हैं वहां की पूर्ति होगी । जहां शिक्षकों की कमी है , वहां से स्थानांतरण नहीं होंगे । -दीपक जोशी , पूर्व शिक्षा मंत्री ।


 जो स्कूल शिक्षक विहीन है उनकी जानकारी वरिष्ठ कार्यालय को दे दी गई है . पूर्ति होने संभावना है । स्थानांतरण शासन नीति अनुसार ही होंगे । -एनपी सिंहबीईओ बागली ।
शिक्षकों की पूर्ति होने की जल्द संभावना शिक्षकों की पूर्ति होने की जल्द संभावना Reviewed by Zztech on अगस्त 25, 2021 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

if you have any doubt please let me know.

Blogger द्वारा संचालित.