B.ed D.ed Fees Hike -बी एड ,डी एड की फीस बढ़ेगी अगले सत्र से लागू।

प्रदेश में संचालित बीएड , डीएड निजी कॉलेजों की फीस इस बार 20 से 50 फीसदी तक बढ़ सकती है । बीएड , डीएड कॉलेजों की फीस में पिछले पांच साल से इजाफा नहीं हुआ है । ऐसे में इस बार फीस में ज्यादा इजाफा हो सकता है । वहीं जिन इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों की फीस 2019 – 20 तक के लिए तय हुई थी , उनकी फीस में भी 20 से 30 फीसदी तक का इजाफा हो सकता है । फीस तय कराए जाने के लिए प्रवेश एवं शुल्क विनियामक समिति ने आवेदन बुलाए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है । ऑनलाइन आवेदन के साथ कमेटी ने पिछले तीन शिक्षण सत्रों के आय – व्यय की जानकारी शिक्षण संस्थानों से मांगी है । इसके आधार कॉलेजों की फीस तय होगी । यह फीस शिक्षण सत्र 2020 – 21 , 2021 – 22 2022 – 23 के लिए तय की जाएगी ।

इंजीनियरिंग , मेडिकल , बीएड , डीएड फॉर्मसी , एमबीए , एमसीए सहित 1 हजार से ज्यादा शिक्षण संस्थानों की फीस कमेटी ने शिक्षण सत्र 2016 – 17 में तय की थी । इस दौरान मेडिकल कॉलेजों की फीस 50 फीसदी तक बढ़ी थी । इंजीनियरिंग कॉलेजों की फीस में भी इजाफा हुआ था । इसके बाद भी उच्च शिक्षा विभाग सहित अन्य शिक्षण संस्थानों ने अपनी फीस तय नहीं कराई थी ।

इस साल फीस तय कराने वालों में बीएड , डीएड कॉलेजों की संख्या अधिक है । ज्यादातर बीएड , डीएड कॉलेजों की फीस शिक्षण सत्र 2017 – 18 , 2018 – 19 और 2019 – 20 तक के लिए तय हुई थी । इस दौरान बीएड कॉलेजों की फीस सालाना 32 हजार से 36 हजार रुपए तक थी । इसके बाद फीस में बढ़ोत्तरी नहीं हुई है । वहीं पिछले साल से बीएड , डीएड कॉलेजों की डिमांड बढ़ गई है । ऐसे में तय है कि ज्यादातर कॉलेज इस बार फीस बढ़ाए जाने की डिमांड कमेटी से करेंगे । इससे तय है कि इस बार बीएड , डीएड कॉलेजों की फीस में इजाफा हो जाएगा ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.