इन भर्तियों में नहीं मिलेगा सवर्ण। 10 प्रतिशत आरक्षण -सवर्णों में नाराजगी।

प्रदेश के विश्वविद्यालयों के खाली पदों पर होने वाली भर्तियों में गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी और ओबीसी के लिए 27 फीसदी आरक्षण नहीं मिलेगा । उच्च शिक्षा विभाग ने विश्वविद्यालयों में होने वाली भर्तियों को लेकर नया रोस्टर जारी कर दिया है । इस रोस्टर में नियमों का हवाला देते हुए पुराने पदों पर 10 फीसदी और 27 फीसदी आरक्षण को नहीं दिए जाने का प्रावधान किया है । हालांकि अब 27 फीसदी आरक्षण दिए जाने का मामला कोर्ट में भी उलझा है । गौरतलब है कि इससे पहले भी उच्च शिक्षा विभाग ने विश्वविद्यालयों की भर्ती को लेकर रोस्टर जारी किया था । उस रोस्टर में 10 फीसदी और 27 फीसदी आरक्षण को लेकर असमंजस की स्थिति थी । इसके चलते विश्वविद्यालयों ने रोस्टर में स्पष्ट प्रावधान करने की बात कही थी । विश्वविद्यालयों का कहना था कि स्पष्ट प्रावधान नहीं होने की स्थिति में अगर भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाती है , तो कोर्ट केस होंगे और भर्ती प्रक्रिया अटक जाएगी । इसके चलते शासन ने विश्वविद्यालयों में होने वाली भर्तियों के लिए दोबारा रोस्टर जारी कर दिया है । यह रोस्टर सभी विश्वविद्यालयों को भेज दिया है । इसी के मुताबिक विश्वविद्यालयों को भर्ती करना है ।

विश्वविद्यालयों पर है भर्तियों का दबाव : दरअसल इस बार यूजीसी नैक को . अनिवार्य कर दिया है । इधर प्रदेश के विश्वविद्यालयों के 50 फीसदी से ज्यादा पद खाली हैं । पद खाली होने से नैक की ग्रेडिंग में विश्वविद्यालय पिछड़ रहे हैं । विश्वविद्यालय भर्ती नहीं होने के लिए शासन को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं । इसके चलते शासन ने अब भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश विश्वविद्यालयों को दे दिए हैं । यह हैं नए रोस्टर में प्रावधान : नए रोस्टर में स्पष्ट किया है कि सवर्ण गरीबों के लिए 10 फीसदी आरक्षण 2 जुलाई

वर्ष 2019 से लागू है । ऐसे में 2 जुलाई 2019 या इसके बाद के स्वीकृत पदों पर 10 फीसदी आरक्षण लागू होगा । इससे पहले के पदों पर नहीं । वहीं ओबीसी लिए 27 फीसदी आरक्षण 19 अगस्त 2019 से प्रभावशील है । ऐसे में इन पदों | के लिए 27 फीसदी आरक्षण 19 अगस्त | या इसके बाद के स्वीकृत पदों पर ही लागू होगा ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.