MP में Distance Course अगले सत्र से मुश्किल ये कोर्स हो सकते हैं बन्द।

प्रदेश के विश्वविद्यालय शिक्षण सत्र 2020 – 21 से यूजी – पीजी के डिग्री कोर्स नहीं चला पाएंगे । विश्वविद्यालय सिर्फ एक वर्षीय डिप्लोमा पाठ्यक्रम ही संचालित कर पाएंगे इसकी वजह है पत्राचार वाले कोसों की मान्यता देने वाली संस्था डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो ( डीईबी ) के नए नियम । यूजीसी की संस्था डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो ने पत्राचार के नाम से फर्जीवाड़ा करने वाली संस्थाओं पर शिकंजा कसने के लिए नियमों में कड़ाई कर दी है । इसके चलते प्रदेश के विश्वविद्यालयों की मुश्किलें बढ़ गई हैं । नए नियमों के तहत अब पत्राचार के माध्यम से यूजी – पीजी के डिग्री कोर्स वेडी विश्वविद्यालय चला सकते हैं , जिनके पास नैक का ए प्लस – प्लस ग्रेड होगा । प्रदेश विश्वविद्यालयों में अभी सिर्फ डीएबी विश्वविद्यालय इंदौर के पास ए प्लस – प्लस ग्रेड है । यह ग्रेड इंदौर विश्वविद्यालय को इसी साल मिला है । इधर , इंदौर विश्वविद्यालय सिर्फ पत्राचार के माध्यम से एमबीए कोर्स संचालित करता है । ऐसे में डीएबी इंदौर को छोड़कर अन्य कोई भी विश्वविद्यालय पत्राचार के कोर्स नहीं चला पाएगा ।

बीयू पत्राचार के माध्यम से सबसे ज्यादा कोर्स चला रहा है । इधर , बीयू के पास नैक का अभी बी ग्रेड है । अब बीयू में इसी साल नैक की ग्रेडिंग होना है । इस साल होने वाली ग्रेडिंग में बीयू को ज्यादा से ज्यादा ए ग्रेड मिल पाएगा , वह भी मुश्किल है । अगर ए ग्रेड भी मिल जाता है , तो भी बीयू पत्राचार के कोर्स नहीं चला पाएगा । बीयू में एमए ,बीए , एमकॉम , बीलिब , एमलिब सहित अन्य कोर्स डिस्टेंस एजकेशन के माध्यम से चल रहे हैं । अगले सत्र से इन कोर्स में एडमिशन बंद हो जाएंगे । इसके अलावा जीवाजी । विश्वविद्यालय ग्वालियर , जबलपुर । विश्वविद्यालय सहित अन्य विश्वविद्यालय । ये कोर्स नहीं चला पाएंगे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.