केवल अतिथि शिक्षक उसी जिले में सत्यापन करा पाएंगे जिस जिले में कार्य किया गया है।

माध्यमिक तथा उच्च माध्यमिक शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में अतिथि शिक्षकों को दस्तावेज सत्यापन कराने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दिशा निर्देश जारी किए गए हैं आइए जानते हैं

प्रावधिक सूची में जिन अभ्यर्थियों के नाम प्रदर्शित किए जाएंगें , उन्हें निर्धारित फीस जमा कर एम . पी . ऑनलाईन पोर्टल पर निर्धारित अवधि में अपने दस्तावेज अपलोड करना होंगे । दस्तावेज अपलोड करते समय अभ्यर्थी को यह प्रविष्टि करनी होगी कि वह किस जिले में अपने दस्तावेजों का सत्यापन कराना चाहते है । अतिथि शिक्षकों को उसी जिले में दस्तावेजों का सत्यापन कराना अनिवार्य होगा , जिस जिले में उनके द्वारा अतिथि शिक्षक के रूप में कार्य किया गया हो । एक से अधिक जिलों में अतिथि शिक्षक के रूप में कार्य करने पर उन्हीं जिलों में से किसी एक जिले का चयन अभ्यर्थी को करना होगा । सत्यापन हेतु जिले तथा कार्यालय के चयन का अंतिम अधिकार आयुक्त , लोक शिक्षण का होगा । दस्तावेजों के सत्यापन के साथ ही अभ्यर्थियों को पोर्टल पर दर्शाई गई रिक्तियों के आधार पर अंतिम रूप से चयनित हो जाने की दशा में पदस्थापना संबंधी विकल्प चॉईस फिलिंग भी इसी स्तर पर प्रस्तुत किया जाना अनिवार्य होगा । यह पुनः स्पष्ट किया जाता है कि दस्तावेज सत्यापन एवं वास्तविक रिक्तियों के आधार पर अंतिम रूप से चयनित अभ्यर्थी ही नियुक्ति के लिए पात्र माने जाएंगे । शाला विकल्प प्रावधिक रूप से प्रतीक्षा सूची में अंकित अभ्यर्थियों से भी प्राप्त किया जा रहा है परंतु उन्हें शाला आवंटन की कार्यवाही उन्हें नियुक्ति किए जाने की दशा में ही विचारण में ली जा सकेगी ।

तदुपरांत संबंधित अभ्यर्थियों को दस्तावेज के सत्यापन हेतु जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में निर्धारित दिनांक तथा समय पर उपस्थित होकर दस्तावेजों का सत्यापन कराना होगा । सत्यापन के समय अभ्यर्थी को अपने मूल दस्तावेज एवं उनकी स्वप्रमाणित प्रतियों के 2 सेट साथ लाने होंगे । ये सेट सत्यापन के दौरान संबंधित अधिकारी द्वारा मूल दस्तावेज से मिलान कर कार्यालय में जमा करा लिए जाएंगें तथा इसका ऑनलाईन प्रमाणीकरण किया जाएगा । सत्यापन के समय उपस्थित होने एवं दस्तावेजों के प्रमाणीकरण की स्थिति की ऑनलाईन जनरेटेड पावती संबंधित को प्रदान की जाएगी जिसमें एक रिफरेंस नंबर होगा । निर्धारित तिथि तथा समय पर सत्यापन हेतु उपस्थित न होने वाले अभ्यर्थियों को चयन हेतु अयोग्य माना जाएगा । दस्तावेज सत्यापन में किसी प्रकार के संशोधन का अनुरोध स्वीकार नही किया जाएगा ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.