Nios Deled Validity -क्या NCTE देगा निर्णय को चुनौती।

NIOS से डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन ( D . El . Ed . ) करने वाले शिक्षकों की समस्याएं अभी खत्म नहीं हुई हैं . उनका इंतजार एक बार फिर बढ़ता हुआ दिख रहा है . हालांकि पटना हाईकोर्ट ने फैसला सुनाते । हुएि एनआईओएस से डीएलएड करने वाले अभ्यर्थियों को शिक्षक बहाली प्रक्रिया में शामिल होने की अनुमति दे दी थी . लेकिन अब इस आदेश के बाद भी उन्हें इंतजार करना पड़ेगा . दरअसल हाईकोर्ट के आदेश के बाद उम्मीद जगी थी कि इन्हें बहुत जल्द प्राथमिक शिक्षकों के नियोजन में भाग लेने का मौका मिलेगा . लेकिन बिहार शिक्षा विभाग ने अब एनसीटीई को पत्र लिखकर पूछा है कि क्या एनसीटीई पटना हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देगा या नहीं .

बता दें कि नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन ( NCTE ) ने पिछले साल बिहार सरकार के पत्र के जवाब में एनआईओएस से । डीएलएड की डिग्री को नई बहाली या नियोजन में अमान्य करार दिया था . इसकी वजह से बिहार के करीब ढाई लाख शिक्षक अभ्यर्थी प्राथमिक शिक्षकों के नियोजन की प्रक्रिया से बाहर हो गए । थे . इसके बाद पीड़ित शिक्षकों ने पटना हाईकोर्ट में मामला दायर किया था . इस मामले में 21 जनवरी को पटना हाईकोर्ट ने डिग्री को पूरी तरह से सही करार देते हुए बिहार सरकार को आदेश दिया था कि इन | शिक्षकों को भी प्राथमिक शिक्षकों के नियोजन की प्रक्रिया में भाग लेने दिया जाए .

अभी करना पड़ेगा इंतजार हालांकि इस आदेश के बाद शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने एक बार फिर नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन को पत्र लिखकर यह जानकारी मांगी है कि क्या पटना हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ एनसीटीई आगे अपील करने वाला है . अब देखना है कि एनसीटीई इस मामले में क्या जवाब देता है . अगर एनसीटीई पटना हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देता है तो फिर एनआईओएस से डीएलएड करने वाले शिक्षकों को लंबा इंतजार करना पड़ सकता है .

Leave a Comment

Your email address will not be published.